Tuesday 15 September 2009

लो मैं आ गया !

दोस्तों , मुझे बेहद अफ़सोस है की,कार्टून धमाका ब्लॉग को मुझे फ़िर से नए रूप से जारी करना पड़ रहा है, कुछ कारणों से मुझे अपने पुराने ब्लॉग को डिलीट करना पड़ा, सबसे ज्यादा मुझे अपने अनुसरण कर्ता मित्रों के फोटो डिलीट हो जाने का दुःख है, पुराने ब्लॉग पर टिप्पणियां दर्ज नही हो पा रही थी, ये भी एक बड़ा कारन रहा की मुझे फ़िर से नया ब्लॉग तैयार करना पड़ा।
आज अपना वही कार्टून फ़िर जारी कर रहा हूँ , जिसपर आप टिप्पणियां दर्ज नहीं कर पाये थे, इसके बाद से फ़िर नए कार्टून लेकर आता रहूँगा , धन्यवाद।
-----------------------------------------------------------


--------------------------------------------------------

6 comments:

Udan Tashtari said...

सटीक!!

मगर पुराना डिलिट किए बिना भी तो काम चल सकता था. अफसोस हुआ.

हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ.

कृप्या अपने किसी मित्र या परिवार के सदस्य का एक नया हिन्दी चिट्ठा शुरू करवा कर इस दिवस विशेष पर हिन्दी के प्रचार एवं प्रसार का संकल्प लिजिये.

जय हिन्दी!

संजय तिवारी ’संजू’ said...

आपका हिन्दी में लिखने का प्रयास आने वाली पीढ़ी के लिए अनुकरणीय उदाहरण है. आपके इस प्रयास के लिए आप साधुवाद के हकदार हैं.

आपको हिंदी दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.

Nirmla Kapila said...

बदिया आभार्

संगीता पुरी said...

इतने दिनों का मेहनत बर्वाद हो जाने से तकलीफ तो होती ही है .. पर चिंता न करें .. धीरे धीरे सारे लोग जुट जाएंगे .. शुभकामनाएं !!

Rakesh Singh - राकेश सिंह said...

बहुत बढिया .... | नै ऊर्जा के साथ नए ब्लॉग पे लग जाइये ... पाठक तो आ ही जायेंगे | हमारी शुभकामनाएं आपके साथ है|

सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट) said...

सभी टिप्पणीकारों का आभार!