Thursday 30 December 2010

लाइन से लें ...(कार्टून धमाका)

9 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" said...

बहुत बढ़िया कार्टून!
अरे वाह...!
कितने दिन से आपका ब्लॉग ढूँढ रहा था आज मिल ही गया!
अब मेरी ब्लॉगसूची में आपकी पोस्ट आती रहेगी और मैं भी यहाँ आता रहूँगा!
--
यदि असुविधा न हो तो आप मेरे एग्रीगेटर "पल पल हर पल" में अपनी ब्लॉग शामिल कर लीजिए।
इसका लिंक "चर्चा मंच" के नीचे लगा हुआ है!

राज भाटिय़ा said...

अब जल्दी से घर जाओ, कोई लूट ही ना ले भाई

anshumala said...

चलो तीन दिन की छुट्टी में काम हो गया |

सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट) http://cartoondhamaka.blogspot.com/ said...

शास्त्रीजी समेत सभी मित्रों का टिपण्णी
के लिए अत्यंत आभार !

रानीविशाल said...

बहुत बढ़िया..!!
हर पल यही है दिल की दुआ आपके लिए
खुशियों भरा हो साल नया आपके लिए
महकी हुई उमंग भरी हो हर इक सुबह
चाहत के गुल से पथ हो सजा आपके लिए

खबरों की दुनियाँ said...

अच्छी पोस्ट , नववर्ष की शुभकामनाएं । "खबरों की दुनियाँ"

ललित शर्मा said...


भाई जी 2-4 सिलेंडर पहले ही भरवा के रखे करो:)
नव वर्ष 2011 की हार्दिक शुभकामनाएं

चुड़ैल से सामना-भुतहा रेस्ट हाउस और सन् 2010 की विदाई

Er. सत्यम शिवम said...

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाए...

*काव्य- कल्पना*:- दर्पण से परिचय

*गद्य-सर्जना*:- पुराने साल की कुछ यादें

મલખાન સિંહ said...

राज भाटिया जी की बात पर गौर करें भाई...