Thursday 1 September 2011

पुत्र से हार पिता के लिए गर्व की बात (कार्टून धमाका)

श्री अन्ना हजारे का ये स्केच मेरे बड़े बेटे ने बनाया है ..मुझे यह स्केच दिखाते हुए मेरे बेटे ने मुझसे कहा- पापा आप हार मान लीजिये क्योंकि आप ऐसा स्केच अब नहीं बना पायेंगे.. मैंने बेटे
से तो कुछ नहीं कहा पर मेरे दिल ने मुझसे यही कहा- हाँ यह मेरी 
हार है..पर बेटे से हार पर मुझे शर्मिंदगी नहीं बल्कि गर्व का एहसास 
है!











**********************************************************************************

13 comments:

Shah Nawaz said...

वाह! यह तो बहुत ख़ुशी की बात है... स्केच बहुत ही बेहतरीन बना है.... मुबारक हो!

Ratan Singh Shekhawat said...

पुत्र से हार पिता के लिए गर्व की बात

@ यही बात "कल कौन बनेगा करोड़पति" में ५० लाख रु. के विजेता विक्रम के पिता ने कही| उन्होंने इसके लिए संस्कृत में एक श्लोक भी सुनाया था जिसका भावार्थ यही था कि पुत्र से हारना पिता के लिए गर्व की बात है |

Suresh kumar said...

पुत्र से हार पिता के लिए गर्व की बात....
बिलकुल सही बात ...कार्टून बहुत ही अच्छा बना है ..

शिवम् मिश्रा said...

इस हार की आप को बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ ... आगे आने वाली ऐसी और भी हारो के लिए शुभकामनाएं !

ajit gupta said...

इस हार में ही जीत है।

ताऊ रामपुरिया said...

इस हार के लिये आपको और जीत के लिये बेटे को बधाई और शुभकामनाएं.

एक पिता इसी हार के दिन का तो इंतजार करता है. बेटे के उज्जवल भविष्य के लिए पुन: शुभकामनाएं.

रामराम

Dr (Miss) Sharad Singh said...

पूत के पांव पालने में....

या यूं कहिए कि....
ये हुई न बात,
पुत्र ने दिया पिता के मात.

सुरेश जी,
अपने भतीजे के उज्जवल भविष्य के लिए मेरी शुभकामनाएं.

Dr (Miss) Sharad Singh said...

लेखन त्रुटि के लिए खेद है, कृपया इसे यूं पढ़ें...

ये हुई न बात,
पुत्र ने दिया पिता को मात.

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

जी हाँ इस हार में ही जीत है.....

Kajal Kumar said...

वाह

Parul said...

is haar mein chippi jeet ko aapse jyada kuan samjh sakta hai....badhai!

Register domain said...

Hi..This is a fantastic website and I can not recommend you guys enough. Full of useful resource and great layout very easy on the eyes. Please do keep up this great work... keep it upRegister Website

मोनिका गुप्ता said...

सैम ...इसमे कोई शक नही कि अन्ना जी का स्कैच बहुत खूब बना है ... पर इसमे भी जीत आपके पापा की ही है क्योकि यह हुनर आपको वही से मिला है गर्व आपको होना चाहिए कि आपने ऐसे पिता के घर जन्म लिया है .... बहुत बहुत बधाई.. आशा है और भी बहुत सारी कृतिया देखने को मिलेगी ...