Tuesday, 18 October, 2011

दिवाली धमाका...कार्टून धमाका...

बहुत लंबे अंतराल के बाद लौटा हूँ ...और फिर से कार्टूनों का सिलसिला शुरू कर रहा हूँ ..आपका स्नेह चाहिए ...
_________________________________________________________________________________

7 comments:

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

Badhya hai...

Shah Nawaz said...

ha ha ha

अरूण साथी said...

हा हा यह तो कांगेसी कुत्ता है जो पटाखे के डर से पूंछ कटबा रहा है।

Pallavi said...

बहुत बढ़िया....

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

इस कार्टून की चर्चा कल बुधवार के चर्चा मंच पर भी की जा रही है!
यदि किसी रचनाधर्मी की पोस्ट या उसके लिंक की चर्चा कहीं पर की जा रही होती है, तो उस पत्रिका के व्यवस्थापक का यह कर्तव्य होता है कि वो उसको इस बारे में सूचित कर दे। आपको यह सूचना केवल इसी उद्देश्य से दी जा रही है! अधिक से अधिक लोग आपके ब्लॉग पर पहुँचेंगे तो चर्चा मंच का भी प्रयास सफल होगा।

अजय कुमार झा said...

आपके कार्टून में छिपी एक तल्ख सच्चाई और पशु पक्षियों का दर्द महसूस हुआ । दीवाली की रात का प्रदूषण जाने कितने प्राणियों पर भारी पडती है । स्वागत है आपका दोबारा आने के पर । शुभकामनाएं

सुरेश शर्मा (कार्टूनिस्ट) http://sureshcartoonist.blogspot.com/ said...

ब्लॉग पर आने वाले सभी मित्रों शुभ
चिंतकों के हम अत्यंत आभारी हैं
आभार..!